रोज हररोज उनसे मुलाकात हुई

रोज हररोज उनसे मुलाकात हुई👫 फिर रोज़🌹 डे के दिन ही उनसे आँखे👀 चार हुई फिर वो थोड़ा इतराई🤷 फिर थोड़ा शरमाई🙆👨‍👨‍👧‍👧 मेरे हाथों में से गुलाब👫 ले वो थोड़ा मुस्काई फिर दो कदम चल👣 फिर वो पीछे मुड़ कर मुस्काते हुए पूछा “कल मिलेंगे ना वापस?”❤️

Read More रोज हररोज उनसे मुलाकात हुई

इश्क़ के पर्दे पर रंग के कई दाग है

इश्क़ के पर्दे पर रंग के कई दाग है फिर क्यों हर बार नफरत के रंग से ही जलते सब के घरबार है हस्ती तो तेरी भी वहा ही है फिर जलती बस्ती को देख रूह तुम्हारी क्यों हस्ती है इस खुशी को देख कुछ यूं लगता है तुम्हारी हस्ती हुई बस्ती को किसी ने […]

Read More इश्क़ के पर्दे पर रंग के कई दाग है

किती बोलतो आपण दोघे

किती बोलतो आपण दोघे तरी बोलणे राहून जाते तुझानी माजा या नात्यांचे नाव सांगणे राहून जाते अशी कशी ही ओळख जातील अनोळखी तरी ही संपत नाही तुला गुणगुणत असताना ही तुला ऐकणे राहून जाते तुझा नि माजा या नात्यांचे नाव सांगणे राहून जाते किती बोलतो आपण दोघे जगा वेगळ्या श्रावण्यास आभाळा चा श्राप असावा मणी […]

Read More किती बोलतो आपण दोघे

पहला इश्क़ पहला दूसरा प्यार ।

अगर ज़ख्म हे तो दूसरा इश्क़ मरहम. पहले इश्क़ ने मुझे सिखाया की क्यों प्यार करना चाहिए तो दूसरे इश्क़ ने सिखाया मुझे क्यों प्यार करना चाहिए. नए माज़ा की बोतल खाली हो जाने पर उसमे पानी भर कर पीओ तो लगता हे महक वही फील वही पर स्वाद नहीं होता. अगर पहला प्यार मज़ा […]

Read More पहला इश्क़ पहला दूसरा प्यार ।

तेरे होने से जिंदा है वजूद-ए मोहब्बत

तेरे होने से जिंदा है वजूद-ए मोहब्बत ए बेवफा काश तुजे मेरी भी उम्र लग जाए में अब ये नही कहता कि मुजे तुमसे नफरत है क्योंकि नफरत है तो मतलब है और मतलब है तो मोहब्बत है पर अब तो मोहब्बत ही नही तो मतलब कैसा ओर मतलब ही नही तो नफरत किस बात […]

Read More तेरे होने से जिंदा है वजूद-ए मोहब्बत